ब्रज की रक्षा के लिए गोवर्धन पर्वत उठाया

IMG-20170421-WA0014 11111111111 भंडारे का आयोजन होगा आज
दिवाकर वर्मा बांदरी । बांदरी के पुलिस थाना मैदान में गृह व परिवहन मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह द्वारा आयोजित कराई जा रही श्रीमद्भागवत कथा में मां कनकेश्वरी देवी जी ने गोवर्घन पर्वत की महिमा बताते हुए कहा कि मनुष्य का शरीर गोवर्धन है। इंद्र को स्वर्ग का राजा कहा जाता है। ब्रजवासी इंद्रदेव की पूजा भी किया करते थे। एक बार पूजा नहीं हुई तो नाराज हो गए। जब भगवान श्रीकृष्ण को पता चला कि पद के कारण इंद्र अहंकारी होते जा रहे हैं तब उन्होंने वृंदावनवासियों को समझाया कि आपको इंद्र की नहीं गोवर्धन की पूजा करना चाहिए।यह जानकर इंद्र का्रेधित हो गए और उन्होंने मूसलाधार जल बरसाया। इंद्र के प्रकोप से बचाने के लिए श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपने बाएं हाथ की कनिष्ठ उंगुली पर उठाया। गिरीराजधरण की छत्र-छाया में मूसलाधार बारिश भी कुछ नहीं कर पाई।
उन्होंने कहा कि जो परमात्मा की शरणगति में रहता है उसे छत्रछाया स्वतः ही प्राप्त हो जाती है।
पृथ्वी के सभी पौधे कल्पवृक्ष: मां कनकेश्वरी देवी जी ने कहा कि स्वर्ग में तो केवल एक ही वृक्ष है जिसे कल्पवृक्ष कहा जाता है पर इस पृथ्वी पर जितने भी वृक्ष हैं वे सभी कल्पवृक्ष हैं। इन वृक्षों की हमें रक्षा करना चाहिए। वृक्षों की रक्षा नहीं करोगे पृथ्वी की रक्षा नहीं करोगे फिर पानी के लिए यज्ञ करोगे तो पानी कैसे आएगा। पेड़-पौधे लगाओ। उन्होंने कहा कि जो प्रत्यक्ष हैं उनकी सेवा करो। माता-पिता,गौमाता,समाज की सेवा करो।
दान के बिना उत्सव अधूराः मां कनकेश्वरी देवी ने कहा कि दान के बिना कोई भी उत्सव पूरा नहीं होता। कोई जयंती हो अथवा जन्मोत्सव इसमें दान अवश्य किया जाना चाहिए। दान करने वाला हमेशा संपन्न होता है। व्रत का मतलब है कि आपका भोजन किसी जरूरतमंद को मिल जाए। मां कनकेश्वरी देवी ने मन को निर्दोष करने का प्रयास करें। सात्विकता में बहुत ही बल होता है।
राधे-राधे मंडल ने दी भजनों की प्रस्तुतिः राधे-राधे मंडल सागर के भजन गायकों ने उपस्थित होेकर भजन प्रस्तुत किए। विवाह उत्सव के दौरान प्रस्तुत किए गए भजनों के दौरान श्रद्धालू अपने लिए रोक नहीं पाए और जमकर नाचे। आज भी कथा में मुख्य यजमान गृह व परिवहन मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह सपत्नीक उपस्थित रहे। कथा का श्रवण करने मुख्य यजमान गृहमंत्री श्री भूपेंद्र सिंह, भाजपा मोर्चा की जिलाध्यक्ष श्रीमती सरोज सिंह, मंत्री प्रतिनिधि श्री लखन सिंह ,सरपंच संध के जिलाध्यक्ष श्री सतेंद्र सिंह, जिलापंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि अशोक सिंह बामोरा, बीना विधायक महेश राय,म.प्र. तुलसी साहित्य अकादमी के अध्यक्ष पं.महेशदत्त त्रिपाठी,सुखदेव मिश्रा, देशराज यादव समेत मालथौन, रजवांस, बरौदियाकलां, बांदरी के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता व धर्मप्रेमी मौजूद थे। कथा के बाद मुख्य यजमान श्री गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह, भाजपा मोर्चा की जिलाध्यक्ष श्रीमती सरोज सिंह ने श्रीमद्भागवत की आरती की।
भंडारा किया जाएगा आज: श्रीमद्भागवत कथा का आज समापन हो गया। कथा के बाद भंडारे का आयोजन शनिवार को किया जाएगा। भंडारा में बांदरी क्षेत्र के लगभग पचास गांव के लोग शामिल होंगे। मंत्री प्रतिनिधि श्री लखन सिंह ने भंडारे के सिलसिले में कार्यकर्ताओं की बैठक लेकर आवश्यक मार्गदर्शन दिया ताकि भंडारे में शामिल होने वाले किसी भी श्रोता को असुविधा का सामना नहीं करना पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *