उम्र से ज्यादा अपराध करने वाला अपराधी सागर पुलिस की गिरफ्त में

राजेन्द्र सिंह ठाकुर सागर। गौरझामर के ग्राम सरखेडा निवासी बृजेश पिता जगत सिंह ठाकुर बर्ष 1999 से लगातार आपराधिक गतिविधियों संलग्न या सागर जिले के लगभग आधा दर्जन थानों में बृजेश के विरुद्ध लगभग 43 प्रकरण पंजीबद्ध थे। जिसमें मारपीट, बलवा,अवैध हथियार, हत्या के प्रयास अवैध वसूली, एससी एसटी एक्ट, अपहरण, लूट जैसे गंभीर अपराध थे। उसकी इन्हीं आपराधिक प्रवृत्तियों के कारण वर्ष 2013 में उसे जिलादण्डाधिकारी द्वारा जिला बदर किया गया था किन्तु वह जिला बदर अवधि में पुन: अवैध हथियार के साथ थाना देवरी में जिला बदर आदेश का उल्लंघन कर पकड़ा गया था। वर्ष 2015 में उसके विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम छै के अंतर्गत कार्यवाही की गई। एवं उसे पुन: जेल में निरुद्ध कर दिया गया था। निरुद्ध अवधि के उपरांत रिहा होने पर उसन पुन: मारपीट, गुण्डागर्दी, अपहरण , लूटपाट के अपराध घटित किये। उसके आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस द्वारा समय समय पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही भी की गई। किन्तु वह लगातार अपराध की ओर अग्रसर रहा। विगत दिनों से बृजेश थाना गौरझामर के अपराध क्रमांक 118/18 धारा 294, 342, 506, 365, 395, 397 भादवि 25, 27 आर्स एक्ट एवं अपराध क्रमांक 01/19 धारा 323, 307, 34 भादवि एवं थाना केसली के अपराध क्रमांक 233/19 धारा 147,148, 149, 341, 327, 336, 294, 506 भादवि के अपराध में वाण्टेड होकर लंबे समय से फरार था। पुलिस द्वारा उसकी लगातार तलाश की जा रही पात्या बालस महानिराक्षक सागर जोन द्वारा उसके गिरफ्तारा पर 30, 000 का इनाम भा घोषित किया गया। पुलिस अधीक्षक अमित सांधी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बीना, विक्रम सिंह को विगत दिनों मुखबिरों से जानकारी मिली थी कि कुख्यात अपराधी बृजेश पुन: सागर आने वाला है। अत: उन्होनें अनुविभागीय अधिकारी पुलिस देवरी अजीत पटैल के नेतृत्व में बृजेश दांगी की तलाश हेतु विशेष दल का गठन किया गया था तथा सायबर सेल भी लगातार संबंधित जानकारियां साझा कर रहा था। दिनॉक 06/11/19 को पुख्ता सूचना एवं सायबर सेल के सहयोग से बृजेश की केसली थाना क्षेत्र मे उपस्थिति मिलने पर दाजा जमिओपी देवरी अजीत पटैल के नेतृत्व में थाना प्रभारी गौरझामर आशाराम अहिरवार, थाना प्रभारी केसली एमके जगेत एवं थाना प्रभारी महाराजपुर चंद्रजीत यादव पृथक-पृथक टीम गठित कर केसली क्षेत्र में मुहली गांव के पास स्थित जंगल में भोर के समय घेराबंदी कर सर्चिग प्रारंभ की गई तथा बृजेश के जंगल में छिपे दिखने पर पुलिस द्वारा उसे आत्म समर्पण के लिए चिल्लाकर बोला गया। किन्तु अचानक पुलिस को देखकर बृजेश दांगी निवासी सरखेडा द्वारा पुलिस दल पर देशी कट्टे से जानलेवा दो फायर किये गये अत: पुलिस दल में भी अविलंब पॉजीशन लेकर आत्मरक्षार्थ दो फायर किये जिससे बृजेश ने जंगली क्षेत्र का फायदा उठाकर भागने का प्रयास किया। किन्तु पुलिस दल ने घेराबंदी कर उसे जीवित गिरफ्तार कर लिया है एवं उसके विरुद्ध विधिसंगत अग्रिम कार्यवाही की जा रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *